सांप के काटने पर तुरंत करें ये इलाज

बारिश के दिनों में सांप काटने का ज्यादा खतरा बढ़ जाता है क्योंकि बारिश के दिनों में सांप हमारे घरों तक आने लगते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि सांप के काटने से हमारे भारत में बहुत ज्यादा मौतें होती हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार माना गया है कि भारत में हर वर्ष 50 से 60 हजार व्यक्ति सांप काटने के शिकार होते है। प्राथमिक चिकित्सा समय पर नहीं मिलने के कारण कई लोगों की मौके पर ही मौत हो जाती है। दुनिया भर में लगभग 550 प्रकार की प्रजाति के सांप पाए जाते हैं। लेकिन इनमें से बहुत कम सांप जहरीले होते हैं। ज्यादातर सांपो में जहर नहीं होता है लेकिन फिर भी उनके काटने से मनुष्य की मौत हो जाती हैं, क्योंकि सांप के काटने पर इंसान बहुत घबरा जाता है और उसकी मौत का कारण सांप का जहर नहीं बल्कि हार्टअटैक बनता है, क्योंकि सर्प के काटने से जब व्यक्ति घबराता है, तो उसके ब्लड का सरकुलेशन तेज हो जाता है और वह हार्ट अटैक का शिकार हो जाता है। अतः सांप के काटने पर तुरंत उसकी पहचान कर लेनी चाहिए कि वह सांप जहरीला है या नहीं। सांप जहरीले प्रकार का है धोनी उपाय करके पीड़ित की जिंदगी बचाई जा सकती है।                                                                                    
सांप काटने पर करें निम्न उपाय-
1. अगर किसी व्यक्ति को सांप काट लेता है तो उसे सीधा लेटाना चाहिए तथा जल्दी से उसे हॉस्पिटल तक पहुंचाना चाहिए।
उसे अस्पताल ले जाते समय उसे शांत रखना चाहिए ताकि उसके ह्रदय की गति बढ़ ना सके अन्यथा हृदय की गति बढ़ने के साथ-साथ रक्त संचरण भी बढ़ने लगता है। जिससे जहर हमारे पूरे शरीर में जल्दी से फैलने लगता है।
2. पीड़ित व्यक्ति को कभी भी बेहोश नहीं होने देना चाहिए। जिस स्थान पर सांप काटता है उससे कुछ दूरी पर हाथ या पैर को रस्सी से अच्छी तरह बांध लेना चाहिए ताकि जहर पूरे शरीर में ना फैल सके।
3.जिस स्थान पर सांप काटता है वहां पर हमें ब्लेड या अन्य किसी पदार्थ से थोड़ा कट लगा लेना चाहिए ताकि वह जहर खून के साथ बाहर निकल सके और उसके तुरंत बाद हमें उपचार करवाना चाहिए।
4. सांप के काटने पर पीड़ित व्यक्ति को नाजा 200 की बूंद समय-समय पर पिलाते रहना चाहिए। नाजा 200 सिर्फ के काटने से पीड़ित व्यक्ति की जिंदगी बचाने के लिए एक बहुत ही अहम दवा मानी जाती हैं, जो हर मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाती है तथा इसकी कीमत भी अधिक नहीं होती हैं। नाजा 200 की दो बूंद सांप के काटने से पीड़ित व्यक्ति को पिलाने से शरीर का जहर नष्ट होने लगता है।
अगर आपका इस पोस्ट से रिलेटेड कोई भी सवाल हो तो बेझिझक हमें कमेंट में पूछ सकते हैं, हम जरूर उसका रिप्लाई करेंगे।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *